प्रलेखन
ऑडियो, वीडियो और फोटोग्राफी प्रलेखन के माध्यम से देश की प्रदर्शन कलाओं की धरोहर को संजोए रखने के उद्देश्य से अकादेमी में 1953 में प्रलेखन इकाई की स्थापना की गई थी। सिर्फ एक सदस्य द्वारा शुरु की गई यह छोटी इकाई अब बढ़ कर अब 14 कर्मचारियों वाली हो गई है। उप सचिव (प्रलेखन) इस इकाई के प्रमुख अधिकारी हैं।
रवीन्द्र भवन में स्थित संगीत नाटक अकादेमी के तृतीय तल पर स्थित अकादेमी की प्रलेखन इकाई संभवत: अनूठी एवं पहली ऐसी इकाई है जिसने प्रदर्शन कला परम्परा के ऑडियो/वीडियो प्रलेखन में महारत हासिल कर ली है। समय-समय पर अकादेमी से जुड़े कला विशेषज्ञों और विद्वानों की सहायता एवं उनके मार्ग दर्शन से इस इकाई ने कुशलता और विशिष्टता हासिल कर ली है।
प्रलेखन इकाई अकादेमी का एक अभिन्न अंग है और इसने अकादेमी के लक्ष्यों और उद्देश्यों की पूर्ति में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।